राजस्थान में ऊर्जा संसाधन

एकीकरण के समय राजस्थान में स्थापित कुल विद्युत क्षमता 13.27 मेगा वाट थी। जो बढ़कर 2016 में 17894 मेगा वाट तक पहुँच गयी है। 1 जुलाई १९५७ को राजस्थान राज्य विद्युत मंडल की स्थापना की गयी। 

इसके बाद 2 जनवरी 2000 को राजस्थान विद्युत नियामक आयोग का गठन किया गया। 
इसके पश्च्यात 19 जुलाई 2000 को राजस्थान विद्युत मंडल को ५ कंपनियों में विभाजित कर दिया गया।

  1. राजस्थान राज्य विद्युत उत्पादन निगम लिमिटेड, जयपुर
  2. राजस्थान राज्य विद्युत प्रसारण निगम लिमिटेड, जयपुर
  3. जयपुर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड, जयपुर  (12 जिलों में विधुत वितरण)
  4. अजमेर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड, अजमेर  (11 जिलों में विधुत वितरण)
  5. जोधपुर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड, जोधपुर (10 जिलों में विधुत वितरण)

राजस्थान में सुपर क्रिटिकल पावर स्टेशन

  1. सूरतगढ़ -> एल. एंड टी. द्वारा मई 2013 में निर्माण शुरू हुआ। 
  2. छाबड़ा -> BHEL द्वारा मई 2013 में निर्माण शुरू हुआ।
  3. बांसवाड़ा में प्रस्तावित
  4. कालीसिंध (झालावाड़ ) में प्रस्तावित

एंड कमेंट करें